सामाजिक कुरीतियाँ और नारी , उसके सम्बन्ध , उसकी मजबूरियां उसका शोषण , इससब विषयों पर कविता

Sunday, December 23, 2012

उसे मौत दो




वो एक नही जो बे-आबरू हुई
क्या हम सबकी रूह बेज़ार नहीं
वो जो लुटी सर-ए-बाज़ार आज
क्या वो इज्ज़त की हक़दार नहीं
कितने ही दुर्शाशन खड़े
पर कोई रखवाला गोपाल नहीं
कहा छुप्पे तुम आज क्रिशन
क्यों किया ध्रोपधि पे आज उपकार नहीं
लुटते, मरते सब देख रहे
कर रहे सियासत इस पर भी
ये कैसा हो गया देश मेरा
यहाँ कोई भी शर्म सार नही
उसकी सिर्फ आबरू नहीं लुटी
उसकी रूह को चीरा है
उसकी आँखों में दहशत है
उसकी आहो में पीड़ा है
वो शर्मनाक हरक़त वाले
उन्हें इस पाप का अंजाम दो
उसे मौत दो, उसे मौत दो 
वो दरिन्दे वो जानवर
किसी माफ़ी के हक़दार नही
signature
Swati 

© 2008-13 सर्वाधिकार सुरक्षित!

13 comments:

suresh agarwal adhir said...

wo darinde wo Janwar ..Maffi ke haqdaar nhi hai ....Dil ko chhulenewali rachna
http://ehsaasmere.blogspot.in/

Kavita Verma said...

sach kaha unhe mout do...ummeed kare ki agla varsh nyay varsh hoga..

kumar zahid said...

वो एक नही जो बे-आबरू हुई
क्या हम सबकी रूह बेज़ार नहीं
वो जो लुटी सर-ए-बाज़ार आज
क्या वो इज्ज़त की हक़दार नहीं



Kya khoob swal


aaj is par charcha zaroori hai

शोभा said...

bahut sundar shabdon main sach ki abhivyakti

Asha Saxena said...

फास्ट ट्रेक कोर्ट में जब इतनी देर लग रही है तो क्या कहा जा सकता है |अब तक कई दामिनी मर चुकी होंगी |उम्दा रचना |
आशा

Yashwant Mathur said...

आज 28/01/2013 को आपकी यह पोस्ट (दीप्ति शर्मा जी की प्रस्तुति मे ) http://nayi-purani-halchal.blogspot.com पर पर लिंक की गयी हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .धन्यवाद!

Aruna Kapoor said...

वो दरिन्दे वो जानवर
किसी माफ़ी के हक़दार नही!
...यही जनता की आवाज है...यही सच्चाई है!

anita agarwal said...

ek jwalant prashna...
ek saakaar rachna..
badhai.

mark rai said...

strong message dena jaruri hai...

Dj Mordia said...

Koshish yahi hai ki aise insaan ko maut hi mile.. Is vishay par ek book bhi likhi humne, jo Shilalekhbooks.com par available hai..

Swati said...

आप सबकी प्रशंसा के लिए आभार !!

GURDYAL SINGH said...

Swati ji aapne bahut achha or samaj ko chokane wali baat kahi hai, ab aisi rachanaon ki jarurat hai main bhi likhne me ruchi rakhata hun or apni rachana sigar hi post karunga

kuldeep thakur said...

दिनांक 15/12/2016 को...
आप की रचना का लिंक होगा...
पांच लिंकों का आनंद... https://www.halchalwith5links.blogspot.com पर...
आप भी इस प्रस्तुति में....
सादर आमंत्रित हैं...